आजमगढ़: दीदारगंज थाना के सुरहन गाँव में जिन दोनों मासूमों के हत्या की चर्चा पिछले 1 हफ्ते से आजमगढ़ में हो रही था आख़िरकर

पुलिस ने हत्यारोपित को ग्रिफ्तार कर लिया और उससे बड़ा ही चौकाने वाला खुलासा सामने आया . पुलिस के मुताबिक हत्यारोपित रितेश ने

दोनों मासूमों के क़त्ल की बात कबूल भी की है .

दादा की हत्या का 50 साल पुराना बदला :
आजमगढ़ के नवागत पुलिस कप्तान अजय कुमार सहनी ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि सुरहन गाँव में सन 1966 में भूमि विवाद के

चलते राजमन सिंह का क़त्ल हो गया था जिसमे 3 लोगों को आरोपी बनाया गया था, बाद में तीनों आरोपी न्यायालय से बरी हो गए थे यही बात

मृतक के परिवार वालों को खटक रही थी .

आजमगढ़: 50 साल पहले हुई दादा की हत्या का बदला लेने के लिए दो मासूमों की हत्या –

आजमगढ़: दीदारगंज थाना के सुरहन गाँव में जिन दोनों मासूमों के हत्या की चर्चा पिछले 1 हफ्ते से आजमगढ़ में हो रही था आख़िरकर

पुलिस ने हत्यारोपित को ग्रिफ्तार कर लिया और उससे बड़ा ही चौकाने वाला खुलासा सामने आया . पुलिस के मुताबिक हत्यारोपित रितेश ने

दोनों मासूमों के क़त्ल की बात कबूल भी की है .

दादा की हत्या का 50 साल पुराना बदला :
आजमगढ़ के नवागत पुलिस कप्तान अजय कुमार सहनी ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि सुरहन गाँव में सन 1966 में भूमि विवाद के

चलते राजमन सिंह का क़त्ल हो गया था जिसमे 3 लोगों को आरोपी बनाया गया था, बाद में तीनों आरोपी न्यायालय से बरी हो गए थे यही बात

मृतक के परिवार वालों को खटक रही थी .


इसी बात का बदला लेने के लिए मृतक राजमन का पोता रितेश (25) ने हत्यारोपित रहे रामफेर का 6 वर्षीय भतीजा आर्यन को मौका पाकर

दबोच लिया और फिर पेड़ में लड़ा कर मासूम की हत्या कर दी और लाश को पेड़ के नीचे फेक दिया ताकि किसी को न लगे ये हत्या हुई,

ठीक वैसा ही हुआ, परिजनों को लगा आर्यन पेड़ से गिर गया था जिसके कारण उसकी मौत हो गई , पुलिस के मुताबिक बच्चे के साथ रेप

भी हुआ था .

आर्यन की हत्या का आरोपी रितेश को, गाँव के ही एक मासूम आदित्य ने हत्या से पहले देखा था , रितेश को इसी बात का डर था कहीं

चस्म्दीद आदित्य आर्यन की हत्या का राज़ उगल न दे , इसी राज़ को छुपाने के लिए रितेश कई दिनों से चक्कर में था , ठीक आर्यन की हत्या

के 21 दिन बाद रितेश ने मौका पाया और आदित्य को धर दबोचा और गाँव के बाहर ले जाकर आदित्य की हत्या कर दी और लाश को

गाँव के समीप एक पोखरे में फ़ेंक दी .

आदित्य के पिता ने लाश मिलने पर रितेश पर दुष्कर्म व हत्या की नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई , पुलिस रितेश की तलाश में दबिश दे रही थी

लेकिन बुधवार को सूचना मिली की रितेश कुशल गाँव के पास स्टैंड पर खड़ा है , जैसे रितेश भागता पुलिस की ख़ास टीम ने उसे धर दबोचा .

पुलिस पूछताछ में आरोपी ने दुष्कर्म व हत्या की बात कबूली है .

तफ्तीश के तौर पर पुलिस ने आर्यन की भी बॉडी को कब्रिस्तान से निकलवा कर पोस्टमॉर्टेम के लिए भेज दिया है .

Thanks To:
http://www.azamgarhexpress.com/azamgarh-surhan-village-kids-murder-mystery-is-solved/

हत्या का चश्मदीद गवाह था, इसलिए कर दी हत्या

दीदारगंज थाना क्षेत्र के एक गांव में 14 मई की रात आठ वर्षीय बालक की हत्या करने वाले आरोपी को पुलिस ने बुधवार की सुबह कुशलगांव बस स्टैंड के पास से गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ के दौरान आरोपी ने बताया कि वह गांव के छह वर्षीय बालक आर्यन की हत्या का चश्मदीद गवाह था। बार-बार घटना के संबंध में आर्यन के घरवालों को बताने की धमकी दे रहा था। इसलिए उसने आदित्य की हत्या कर दी। पुलिस ने आरोपी का चालान कर दिया।

एसपी अजय साहनी के अनुसार, गिरफ्तार आरोपी रितेश सिंह पुत्र संतप्रसाद सिंह दीदारगंज थाना क्षेत्र का रहने वाला है। रितेश के दादा की वर्षों पहले हत्या कर दी गई थी। रितेश उसी हत्या का बदला लेना चाहता था। इसके चलते 23 अप्रैल को रितेश अपने दुश्मन के छह वर्षीय बेटे आर्यन सिंह को बहला फुसलाकर सीवान में ले गया और हत्या कर दी। रितेश ने आर्यन की लाश गड्ढा खोदकर दफना दिया और पुआल से ढंक दिया।

एसपी ने बताया कि जिस समय रितेश ने आर्यन की हत्या की थी। यह पूरा दृश्य उसके गांव का आठ वर्षीय आदित्य ने देख लिया था। रितेश ने आदित्य को यह बात किसी से न बताने की धमकी दी थी लेकिन वह आर्यन के घरवालों से बता देने की धमकी दे रहा था। इस धमकी से परेशान रितेश सिंह ने आदित्य को भी ठिकाने लगाने की योजना बनाई। 14 मई को सीवान में ले जाकर आदित्य की हत्या कर दी।

आदित्य की लाश 15 मई को पोखरी से बरामद हुई। आदित्य के पिता ने रितेश के विरुद्ध नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई। इस दौरान आर्यन के मौत का भी राजफाश हुआ। बुधवार को मुखबिर के जरिए सूचना मिलने पर एसओ दीदारगंज ने कुशलगांव बस स्टैंड के पास से रितेश को गिरफ्तार कर लिया। वह कहीं भागने की फिराक में खड़ा था।

Thanks To:
http://m.dailyhunt.in/news/india/hindi/uttar+pradesh-epaper-uttar/hatya+ka+chashmadid+gavah+tha+isalie+kar+di+hatya-newsid-67772852