नौगांव। दौरिया निवासी रुबीना की शादी जावेद पिता शामीउल्ला निवासी जिला टीकमगढ़ की शादी 4 दिसंबर 2016 को हुई रुबिना का प्रेम प्रसंग गांव के ही जीतेन्द्र कुशवाहा पिता घासीराम कुश्ववाहा के साथ विगत 2 वर्षों से चल रहा था जैसे ही रुबीना की शादी हुई और पति जावेद के साथ अपनी ससुराल पठाराम चली गई शादी की पहली बिदा के बाद जैसे ही घर आई अपने प्रेमी के साथ मिल्करपति को मौत के घाट उतारने की साजिश रची और रुबीना और जीतेन्द्र कुशवाहा ने योजनाबद्ध तरीके से 30 दिसंबर को जावेद को दौरिया बुला लिया शाम को जीतेन्द्र के साथ जावेद नगर के छतरपुर रोड साँझा चूल्हा के पास बना नगरपालिका का पार्क में वैठकर दोनों ने शराब पी.

शराब पीने के बाद जीतेन्द्र जावेद को वहीं पास में बने ढाबा के बाउंडरी के अंदर ले गया वहीं जीतेन्द्र ने कट्टे से सीना पर फायर कर मौत के घाट उतार दिया फिर जीतेन्द्र ने उसको वहीं छोड़कर गांव दौरिया आया और दुसरे दिन सुबह 5 बजे गेंती लेकर बंद पड़े ढाबा की बाउंडरी के अंदर जहां पर मृतक पड़ा हुआ था

वहीं लगभग ढाई फुट के गड्ढे को खोदकर डाल दिया

1,घटना का कैसे खुला राज–ग्राम पठाराम थाना सेंदरी जिला टीकमगढ़ का पुत्र जावेद पिता शमीउल्ला 30 दिसंबर को किसी काम के बहाने गांव से दौरिया आया घर में इस बात की किसी को जानकारी नहीं थी की वह दौरिया गया है

जब दुसरे दिन शाम तक नहीं पहुंचा तब घरबालों ने जावेद के मोबाइल पर संपर्क किया तो संपर्क नही हो सका वहीं मृतक की पत्नी रुबीना से जानकारी ली तो उसने कुछ नहीं बताया दो तीन दिन खोजने के बाद जब जानकारी नहीं लगी तो 4 जनवरी को थाना सेंदरी में जावेद के चाचा रहीश खान द्वारा गुमशुदगी का आवेदन दिया गया सेंदरी पुलिस ने घटना के लगभग 55 दिन बाद साइवर सेल की मदद से आरोपी जीतेन्द्र तक पहुंची मृतक की सिम नंबर पत्नी का नंबर आरोपी का नंबर ट्रेस किया गया तो 26 तारीख को सेंदरी पुलिस एस आई सुबोध मिश्रा,एस आई अर्चना यादव के साथ नौगांव थाने आई नौगांव थाना प्रभारी विनायक शुक्ल के साथ मिलकर आरोपी जीतेन्द्र को गांव में ही पकड़ लिया गया


सेंदरी पुलिस आरोपी को थाना सेंदरी ले गई और पूंछतांछ के दौरान उसने जावेद को मारने की पूरी घटना बयां कर दी सेंदरी पुलिस लगभग दोपहर 2 बजे नौगांव थाना पकड़कर लाई और घटना स्थल पर ले गई जहाँ पर उसने मारे गए व्यक्ति की लाश जिस जगह गड़ी थी उसको बताया और लाश को वाहर निकाला यह खबर नौगांव में आंधी की तरह फैल गई.

जब दुसरे दिन शाम तक नहीं पहुंचा तब घरबालों ने जावेद के मोबाइल पर संपर्क किया तो संपर्क नही हो सका वहीं मृतक की पत्नी रुबीना से जानकारी ली तो उसने कुछ नहीं बताया दो तीन दिन खोजने के बाद जब जानकारी नहीं लगी तो 4 जनवरी को थाना सेंदरी में जावेद के चाचा रहीश खान द्वारा गुमशुदगी का आवेदन दिया गया सेंदरी पुलिस ने घटना के लगभग 55 दिन बाद साइवर सेल की मदद से आरोपी जीतेन्द्र तक पहुंची मृतक की सिम नंबर पत्नी का नंबर आरोपी का नंबर ट्रेस किया गया तो 26 तारीख को सेंदरी पुलिस एस आई सुबोध मिश्रा,एस आई अर्चना यादव के साथ नौगांव थाने आई नौगांव थाना प्रभारी विनायक शुक्ल के साथ मिलकर आरोपी जीतेन्द्र को गांव में ही पकड़ लिया गया


सेंदरी पुलिस आरोपी को थाना सेंदरी ले गई और पूंछतांछ के दौरान उसने जावेद को मारने की पूरी घटना बयां कर दी सेंदरी पुलिस लगभग दोपहर 2 बजे नौगांव थाना पकड़कर लाई और घटना स्थल पर ले गई जहाँ पर उसने मारे गए व्यक्ति की लाश जिस जगह गड़ी थी उसको बताया और लाश को वाहर निकाला यह खबर नौगांव में आंधी की तरह फैल गई.

http://samacharline.com/%E0%A4%AA%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A5%87%E0%A4%AE%E0%A5%80-%E0%A4%95%E0%A5%87-%E0%A4%B8%E0%A4%BE%E0%A4%A5-%E0%A4%AE%E0%A4%BF%E0%A4%B2%E0%A4%95%E0%A4%B0-%E0%A4%AA%E0%A4%A4%E0%A4%BF-%E0%A4%95%E0%A5%8B/

भोपाल/छतरपुर. शादी के महज 26 दिनों के बाद महिला ने अपने पति की प्रेमी के साथ मिलकर हत्या करवा दी। इतना ही नहीं, उसने इस गुनाह छिपाने में भी उसका साथ दिया। हत्या के बाद प्रेमी ने शातिराना तरीके से लाश को ठिकाने लगाने उसे गड्ढ़े में दफना दिया। मृतक 30 दिसंबर 2016 से लापता था। पुलिस मामले की जांच में जुटी थी। संदेही से पूछताछ के बाद सोमवार को मामले का खुलासा हुआ है। जानिए क्या है पूरा मामला...

- नौगांव थाना के ग्राम दौरिया की रहने वाली रूबीना की शादी 4 दिसंबर 2016 को टीकमगढ़ जिले के सेंदरी थाना के रहने वाले 26 साल के जावेद के साथ हुई थी।
- रूबीना का लव अफेयर गांव के ही जीतेंद्र कुशवाहा से चल रहा था। परिवार के दबाव के चलते रूबीना ने शादी तो कर ली, लेकिन शादी के बाद मायके आने पर उसने अपने आशिक जीतेंद्र के साथ मिलकर अपने पति जावेद को ठिकाने लगाने की साजिश रच डाली।
ऐसे दिया वारदात को अंजाम
- जीतेंद्र की प्लानिंग के मुताबिक, रूबीना ने अपने नए नवेले पति जावेद को मिलने के बहाने मायके बुलाया।
- जावेद 30 दिसंबर को अपने घरवालों को बताए बिना ससुराल दौरिया आ गया।
- गांव पहुंचने पर रूबीना और जीतेंद्र ने उसका वेलकम किया। इसके बाद जावेद को घुमाने के बहाने जीतेंद्र नौगांव ले गया। जावेद अपने ससुर के घर जाने के बजाय जीतेंद्र के साथ चला गया।
- नौगांव पहुंचने पर जीतेंद्र और जावेद ने एक पार्क के पास बैठकर शराब के पैग लगाए। इसके बाद जीतेंद्र उसे खाना खिलाने के बहाने छतरपुर रोड के एक ढाबा पर ले गया।
- किसी बहाने से ढाबा के पीछे सुनसान में ले जाकर जीतेंद्र ने जावेद को कट्‌टे से गोली मार दी और उसकी लाश वहीं बाउंड्री के पीछे छोड़कर वापस घर लौट गया।
- दूसरे दिन सुबह करीब 5 बजे वह फावड़ा-गेंती लेकर पहुंचा और गड्‌ढा खोकर जावेद की लाश को दफना दिया।
साइबर सेल की मदद से लगा सुराग
- जावेद जब रात को घर वापस नहीं पहुंचा तो फैमिली ने मोबाइन पर कॉल किया, लेकिन मोबाइल स्विच ऑफ बता रहा था।
- शक होने पर फैमिली ने जावेद की ससुराल फोन लगाया तो ससुराल वालों ने कहा कि वह यहां नहीं आया।
- रूबीना ने भी उसके गांव आने की बात से इनकार किया।- इस पर जावेद के चाचा ने सेंदरी थाना पहुंचकर उसकी गुमशुदगी लिखाई।
- मामले में पुलिस ने साइबर सेल की मदद ली और लंबी जद्दोजहद के बाद जीतेंद्र और रूबीना के मोबाइल ट्रेस करने पर दोनों के बीच हुई बातचीत के आधार पर शक यकीन में बदल गया।
- रविवार को सेंदरी थाना के एसआई प्रमोद मिश्रा, एसआई अर्चना यादव के साथ नौगांव आए और नौगांव पुलिस की मदद से दौरिया के जीतेंद्र को पकड़ा।
- जीतेंद्र ने अपना जुर्म कबूल करते हुए पूरी वारदात की जानकारी दी। पुलिस ने सोमवार दोपहर सांझा चूल्हा ढाबा के पीछे जमीन से जावेद की लाश निकलवाई और पीएम के लिए भेज दी।
- पुलिस ने जावेद की पत्नी रूबीना हो हिरासत में ले लिया और दोनों को अपने साथ सेंदरी ले गई।
टीआई विनायक शुक्ला का कहना है कि मृतक की पत्नी ने अपने आशिक के द्वारा पति की हत्या करवाई है। हमने सेंदरी पुलिस की मदद कर लाश को बरामद कर लिया है।

Thanks To:
https://www.bhaskar.com/news/MP-BPL-HMU-woman-lover-killed-husband-and-buried-dead-body-news-hindi-5539077-PHO.html?seq=2