हरिद्वार में पिता-पुत्र की धारदार हथियार से हत्‍या
हरिद्वार, [जेएनएन]: कनखल क्षेत्र के जगजीतपुर में एक पिता-पुत्र की धारदार हथियार से हत्‍या कर दी गई। पुलिस ने शव को कब्‍जे में लेकर पोस्‍टमार्टम के लिए भिजवाया दिया है।

मामला कनखल क्षेत्र के जगजीतपुर की केशव पुरम कालोनी का है। आज यहां एक मकान से दुर्गांध आने पर लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने मौके से दो शवों को बरामद किया। मृतकों की शिनाख्‍त पिता-पुत्र रिटायर्ड रेलवे कर्मचारी श्याम लाल कुकरेजा (65) और भारत कुकरेजा (29 वर्ष) पुत्र श्याम लाल कुकरेजा के रूप में हुई। पुलिस ने बताया कि दोनों पिता-पुत्र घर मे अकेले रहते थे। कुछ दिन पहले धारदार हथियार से उनकी हत्‍या कर दी गई। हत्‍या के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Thanks To:
https://www.jagran.com/uttarakhand/haridwar-murdered-of-father-and-son-with-sharp-weapon-at-haridwar-16867525.html

पिता-पुत्र की हत्या का खुलासा, दो गिरफ्तार

कनखल जगजीतपुर की केशवपुरम कॉलोनी में पिता और पुत्र की हत्या के मामले में पुलिस ने उनके एक रिश्तेदार और उसके एक दोस्त को गिरफ्तार किया है। मुख्य आरोपी ने पुलिस को बताया कि भाई पर जानलेवा हमले का बदला लेने के लिए उन्होंने भारत कुकरेजा उर्फ राहुल की हत्या की थी। पकड़े जाने के डर से उन्हें पिता श्यामलाल कुकरेजा को भी मौत के घाट उतार दिया था।

कनखल थाने में एसपी सिटी ममता वोहरा ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि बीते साल 15 अक्तूबर को सेवानिवृत्त रेलवे कर्मचारी श्यामलाल कुकरेजा और उसके पुत्र भारत उर्फ राहुल कुकरेजा की धारदार हथियार से हत्या कर दी गई थी। खुलासे के लिए एसएसपी कृष्ण कुमार वीके ने आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए टीम का गठन किया था। काफी प्रयास के बाद भी पुलिस को सफलता नहीं मिल रही थी। इस बीच मुखबिर ने पुलिस को सूचना दी कि 12 अक्तूबर को मृतक भारत कुकरेजा के साडू गौतम चौधरी के भाई अभिषेक चौधरी और एक अन्य युवक को घर से निकलता हुआ देखा गया था। पुलिस ने अभिषेक चौधरी को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की। शुरुआत में अभिषेक पुलिस को बहलाता रहा, लेकिन सख्ती से पूछताछ करने पर अभिषेक ने पूरी कहानी उगल दी। अभिषेक ने बताया कि उसने अपने दोस्त आकाश चौहान के साथ हत्या को अंजाम दिया है। अभिषेक चौधरी ने बताया कि भारत ने उसके भाई और अपने साडू गौतम चौधरी को जान से मारने का प्रयास किया था। बताया कि भारत ने चार माह पूर्व गौतम को एक गाड़ी से कुचलने का प्रयास करवाया था। जिसमें गौतम चौहान की दोनों पैर खराब हो गए थे। उसके बाद से ही अभिषेक भारत से रंजीश रखने लगा था। 11 अक्टूबर को मौका पाकर अभिषेक और उसका दोस्त आकाश चौहान भारत कुकरेजा के जगजीतपुर स्थित घर पहुंचे। उन्होंने भारत से गौतम का एक्सीटेंड कराने का कारण पूछा। इस पर भारत ने अभिषेक के साथ मारपीट शुरू कर दी। इसी दौरान पीछे से आकाश ने चाकू से हमला कर भारत की हत्या कर दी। कुछ ही देर में पिता श्यामलाल भी ऊपर के कमरे में पहुंच गए। वे घटना को अनदेखा कर वापस नीचे जाने लगे तो दोनों ने मिलकर श्यामलाल की भी हत्या कर दी। पुलिस ने आरोपियों के पास से दो चाकू, भारत के कपड़े और आईडी, आधार कार्ड बरामद किया है।

Thanks To:
https://www.livehindustan.com/uttarakhand/haridwar/story-the-relative-killed-the-father-s-son-to-take-revenge-1742105.html

डबल मर्डर में पड़ोसी भी पुलिस रडार पर

जागरण संवाददाता, हरिद्वार: जगजीतपुर में बाप- बेटे की हत्या के मामले में रिश्तेदारों और परिचितों के अलावा पड़ोसी भी पुलिस के रडार पर हैं। पुलिस को शक है कि पड़ोस के कुछ लोग दोहरे हत्याकांड में काफी कुछ जानते हैं। लेकिन जानकारी छुपा रहे हैं। ऐसे में हत्याकांड का पर्दाफाश होने पर पुलिस ऐसे पड़ोसियों के खिलाफ भी साक्ष्य छिपाने की धाराओं में कार्रवाई कर सकती है।

जगजीतपुर की शांतिपुरम कॉलोनी में रिटायर्ड रेलवे कर्मचारी श्याम लाल कुकरेजा और उनके बेटे भरत कुकरेजा की धारदार हथियारों से हत्या की गई है। घर में अकेले रहने वाले बाप- बेटे के शव करीब तीन दिन बाद घर से दुर्गंध उठने पर बरामद हुए। भरत का उसकी पत्नी से विवाद चल रहा था। इस बात की जानकारी रिश्तेदारों और परिचितों को भली भांति है। उसके पिता अपने भाइयों व अन्य रिश्तेदारों से दूरी बनाकर रखते थे, यह जानकारी आसपास के लोगों ने भी पुलिस को दी। लेकिन घर में किन किन लोगों का आना जाना था और बुधवार शाम घर में कौन आया। यह जानकारी पड़ोसियों से भी पुलिस को नहीं मिल पा रही है। जबकि पुलिस को शक है कि आस पास के कुछ परिवार ऐसी कई जानकारियां रखते हैं, जिनका ताल्लुक बाप- बेटे की हत्या से हो सकता है। पुलिस बारी- बारी से पड़ोसियों से पूछताछ कर चुकी है। पुलिस को लगा रहा है कि पड़ोसी केस के चक्कर में पड़ने से खुद को बचाना चाह रहे हैं।

जांच से जुड़े एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि आस पास के लोगों का पूरा सहयोग नहीं मिल पा रहा है। यदि पता चलता है कि आस पड़ोस के लोगों या परिचितों ने साक्ष्य छिपाएं हैं तो उनके खिलाफ भी कानूनी कार्रवाई की जाएगी। वहीं एसओ कनखल अनुज ¨सह ने बताया कि हत्या में रिश्तेदारों से लेकर दोस्त व पड़ोसी सब शक के दायरे में हैं।

Thanks To:
https://www.jagran.com/uttarakhand/haridwar-16893880.html