Bhule Chauhan (70) and his wife Rani Chauhan (55) were found murdered in their three-storey house in Noida Sector-44, where they lived alone on Saturday morning, police said.

The incident reportedly came to the light around 8:30 am when a local priest reached their house to invite the duo in a religious programme organised at a nearby temple.
After finding their bodies under semi-decomposed condition, the priest informed the local police immediately that reached the spot and took away bodies for autopsy after breaking the door locked from inside.

A senior police official said the couples owned properties worth crores, including three houses and valuable lands in posh sectors of Noida. Police suspect that they might have been killed by some known person over alleged undertaking of their properties. Superintendent of police, Noida, Dinesh Yadav said the couples were attacked by blunt objects on their head and police are investigating the case from all angles.

Also, Inspector General (Meerut Range) Ajay Aanad, along with senior police officials, inspected the spot.

The deceased had a 21-year-old son Gaurav Chauhan who died five years ago under mysterious circumstances, police said.
After the death of his first wife, Bhule had married another woman, said police, adding that he had a daughter with his first wife who got married with one Krishna of Shapur village but they were not in contact from a long time.

Police said Bhule had two elder brothers who died a few years ago. There is no legal heir of their property and they lived on the rent collected from their properties, said police. Sources said the murder was committed over a matter of property overtake.
"Both of them were seen by the locals last time on Friday around 10 am. We suspected that they were killed on the same day. There was also a friendly entry into the house. The valuables were not ransacked which denies robbery bids,” said some local residents.
"We are questioning a shopkeeper to ascertain the identity of the people who were friendly with the couple. Also, we are questioning their relatives to find out their involvement in this case," the SP said.

An FIR was registered against unknown persons under section 302(murder) of the IPC in sector 39 Police Station.


घर से आ रही थी बदबू, जब खुला दरवाजा तो देखने वालों की फटी रही गईं आंखें
सेक्टर-39 कोतवाली क्षेत्र के छलेरा गांव में एक बुजुर्ग दंपति के सिर पर चोट मारकर हत्या कर दी। घटना शुक्रवार की है और पता शनिवार को चला। घटना की सूचना मिलने पर सेक्टर-39 पुलिस मौके पर पहुंची और घटनास्थल का मुआयना करने आईजी आनंद कुमार भी पहुंचे। दंपति की बेटी की ओर से अज्ञात हत्यारे के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। पुलिस हत्या के पीछे संपत्ति को मान रही है हालांकि अभी कोई साक्ष्य पुलिस के हाथ नहीं लगा है। मगर हत्या का संदेह किसी परिचित पर है और मोबाइल आदि से जांच पड़ताल की जा रही है।
जानकारी के मुताबिक सेक्टर-39 कोतवाली क्षेत्र के छलेरा गांव निवासी भूले चौहान(72) अपनी पत्नी रानी चौहान (55) के साथ रहते थे। उनकी यह दूसरी शादी थी। पहली पत्नी सुक्खो देवी ने ही वारिश की चाह में अपने पति की दूसरी शादी रानी से कराई थी। चूंकि सुक्खो और भूले को केवल एक बेटी थी और वह शाहपुर गोवर्धनपुर गांव में अपने पति के साथ रहती हैं। दूसरी शादी के बाद भूले को एक बेटा गौरव हुआ था मगर उसकी बीमारी से मौत हो गई थी।

उसके बाद से भूले और रानी अपने घर पर ही समय बिता रहे थे। इनके बाद करोड़ों रुपये की संपत्ति है और हर माह लाखों रुपये किराया आता है। पुलिस ने बताया कि दंपति अपने घर के ग्राउंड फ्लोर पर रहते थे और फर्स्ट फ्लोर पर रसोई बना रखी थी। शुक्रवार सुबह 11 बजे तक पड़ोसियों ने भूले और रानी को घूमते हुए देखा था, मगर इसके बाद वह घर से बाहर नहीं आए। शनिवार को जब वह तय समय पर मंदिर की आरती में शामिल नहीं हुए तो पंडित राम और भूले के भाई का पोता सचिन दोनों उनके घर आए तो वहां पहुंचने पर बदबू आ रही थी।
उन्होंने कमरे के बाहर दरवाजे पर ताला लगा देखा तो उन्हें कुछ संदेह हुआ। कमरे में झांककर देखा तो दोनों के शव पडे़ थे। सचिन और राम ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस मौके पर पहुंची और दोनों के शवों की जांच पड़ताल की तो देखा कि दंपति के सिर में गंभीर चोट है। जिससे उनकी हत्या हुई है। साथ ही गला दबाने का भी प्रयास हुआ है। दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

कुछ सवाल जिनके पुलिस को तलाशने हैं जवाब: भूले चौहान के घर में एक कुत्ता था जो किसी भी बाहरी व्यक्ति को प्रवेश नहीं करने देता था। वह कई लोगों को काट भी चुका था। यदि शनिवार को कुत्ता भौंका नहीं तो कोई परिचित ही व्यक्ति घर में आया था। आखिर वह कौन था।

इसके अलावा भूले चौहान और उनकी पत्नी घर की ग्राउंड फ्लोर पर रहते थे तो हत्या के समय रसोई में गए थे। आखिर वह कौन था जिसके लिए चाय बनाई थी। कहीं ऐसा तो नहीं कि हत्यारे ने पहले कुत्ते को कुछ नशीला पदार्थ खिलाया हो।
चूंकि कुत्ता शनिवार को भी अस्वस्थ्य था और भौंक भी नहीं पा रहा था। यदि दंपति की हत्या हुई तो इसका सबसे अधिक लाभ किसे है। ऐसा तो नहीं कि किसी रिश्तेदार ने कोई वसीयत बनवाई हो और इसी के चलते दोनों को रास्ते से हटाया हो।

पुलिस का कहना है कि भूले का अपनी बेटी से करीब 6 साल से विवाद चल रहा था और वह अपने मायके भी नहीं आई थी। इसके पीछे गौरव की रहस्यमय मौत है।

भूले और रानी को लगता था कि गौरव की मौत के पीछे उनकी बेटी का हाथ है। जबकि उनकी बेटी इस बात से इंकार कर रही है। पुलिस का दावा है कि यदि लुटेरे हत्या करते तो जेवरात ले जाते लेकिन सब कुछ घर में ही मिला है।
बुजुर्ग दंपति की हत्या सिर पर चोट लगने के कारण हुई है और शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। पोस्टमार्टम में ही खुलासा हो सकेगा कि हत्या कैसे हुई है। हालांकि हत्या के पीछे प्राथमिक कारण संपति प्रतीत हो रही है। चूंकि उनके पास काफी संपत्ति है और हत्या का संदेह भी किसी परिचित पर ही हो रहा है। जांच की जा रही है जल्द ही हत्या का खुलासा कर दिया जाएगा।-बीआर जैदी, कोतवाल सेक्टर-39

Thanks To:
https://www.amarujala.com/photo-gallery/delhi-ncr/crime/double-murder-in-noida?pageId=10